हींग के औषधीय फायदे और नुकसान - Benefits of Asafoetida in Hindi

हींग के हैं ये फायदे बीमारी को रखे दूर। ईरानी मूल की मानी जाने वाली हींग खांसी, सूखी खांसी, इन्फ्लुएंजा, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा जैसी बीमारियों को दूर करने में भी काफी मददगार है। दाल, सांभर व अन्य किसी रसदार सब्जी में हींग का इस्तेमाल किया जाता है। घी के साथ सेवन करें : देसी घी में हींग के पाउडर को भून लें। इससे खांसी और सांस से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलती है। हींग कई बीमारियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। हम आपको हींग के औषधीय गुणों की जानकारी देते हैं।
(हींग के औषधीय फायदे और नुकसान - Benefits of Asafoetida in Hindi)
हींग के औषधीय फायदे :-
  • दांतों की समस्या के लिए हींग बहुत फायदेमंद है। दांतों में कीड़ा लग जाने पर रात में सोते वक्त दांतों में हींग दबाकर सोएं। ऐसा करने से कीड़े अपने-आप निकल जाएंगे।
  • दाद, खाज, खुजली जैसे चर्म रोगों में हींग बहुत फायदेमंद है। चर्म रोग होने पर हींग को पानी में घिसकर उन स्थानों पर लगाने से फायदा होता है।
  • बवासीर की समस्या होने पर हींग का प्रयोग करना फायदेमंद होता है। बवासीर होने पर हींग का लेप लगाने से आराम मिलता है।
  • कब्ज की शिकायत होने पर हींग के चूर्ण में थोडा-सा मीठा सोडा मिलाकर रात में सोने से पहले लीजिए। इससे पेट साफ हो जाएगा और कब्ज की शिकायत समाप्त होगी।
  • पेट में दर्द व ऐंठन होने पर अजवाइन और नमक के साथ हींग का सेवन करने से फायदा होता है।
  • पेट में कीड़े हो जाने पर हींग को पानी में घोलकर एनीमा लेने से पेट के कीड़े शीघ्र निकल आते हैं।
  • अगर किसी खुले जख्म पर कीड़े पड़ गए हों, तो उस जगह पर हींग का चूर्ण लगाने से कीड़े समाप्त हो जाते हैं।
  • खाने से पहले घी में भुनी हुई हींग एवं अदरक का एक टुकड़ा मक्खन के साथ में लेने से भूख ज्यादा लगती है।
  • पीलिया होने पर हींग को गूलर के सूखे फलों के साथ खाना चाहिए। पीलिया होने पर हींग को पानी में घिसकर आंखों पर लगाने से फायदा होता है।
  • कान में दर्द होने पर तिल के तेल में हींग को पकाकर उस तेल की बूंदों को कान में डालने से दर्द समाप्त हो जाता है।
  • उल्टी आने पर हींग को पानी में पीसकर पेट पर लगाने से फायदा होता है।
  • सिरदर्द होने पर हींग को गर्म करके उसका लेप लगाने से फायदा होता है ।
  • हींग और शहद : थोड़ी-सी हींग में एक चम्मच शहद और आधा चम्मच सफेद प्याज का रस मिला लें। साथ ही, इसमें आधा चम्मच सुपारी का रस और सूखी अदरक मिला लें। सांस से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए रोज इस मिश्रण का थोड़ी मात्रा में सेवन करें।गर्म पानी के साथ हींग : गर्म पानी में एक चुटकी हींग डाल लें। इस मिश्रण को पीने से गंभीर ब्रोंकाइटिस में राहत मिलती है। यह उपाय करने में आसान है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि हींग की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसका ज़्यादा सेवन न करें
What is asafoetida good for?, What does Hing do?, What is the use of asafoetida?, Why asafoetida is used in cooking?, hing benefits for skin, asafoetida benefits ayurveda, hing benefits and side effects, benefits of asafoetida in hindi, asafoetida benefits for babies, asafoetida uses in cooking, how to use hing for weight loss, asafoetida recipes, हींग चे फायदे, हींग और शहद के फायदे, हींग के फायदे और नुकसान, हींग के लाभ, हींग की तासीर, हींग का उपयोग, हींग के फायदे व नुकसान, हींग के औषधीय उपयोग
Share This Recipe with Frinds:-
we are fixing the star review rating code..

hing benefits for skin, asafoetida benefits ayurveda how to use hing for weight loss, asafoetida benefits for babies, asafoetida uses in cooking hing benefits in hindi asafoetida recipes asafoetida plant

hing benefits for skin, asafoetida benefits ayurveda how to use hing for weight loss, asafoetida benefits for babies, asafoetida uses in cooking hing benefits in hindi asafoetida recipes asafoetida plant

hing benefits for skin, asafoetida benefits ayurveda how to use hing for weight loss, asafoetida benefits for babies, asafoetida uses in cooking hing benefits in hindi asafoetida recipes asafoetida plant