तुलसी के औषधीय फायदे और नुकसान - Benefits of Tulsi in Hindi

तुलसी जुकाम, खांसी, बुखार, सूखा रोग, पसलियों का चलना, निमोनिया, कब्ज और अतिसार सभी रोगों में चमत्कारी रूप से अपना असर दिखाती है। तुलसी पत्र मिला हुआ पानी पीने से कई रोग दूर हो जाते हैं। इसीलिए चरणामृत में तुलसी का पत्ता डाला जाता है। आइये जानते हैं कि तरह-तरह की बीमारियों को तुलसी किस प्रकार से ठीक कर सकती है।
(तुलसी के औषधीय फायदे और नुकसान - Benefits of Tulsi in Hindi)
तुलसी के औषधीय फायदे :-
  • लिवर संबंधी समस्या तुलसी की 10-12 पत्तियों को गर्म पानी से धोकर रोज सुबह खाएं। लिवर की समस्याओं में यह बहुत फायदेमंद है।
  • पेटदर्द एक चम्मच तुलसी की पिसी हुई पत्तियों को पानी के साथ मिलाकर गाढा पेस्ट बना लें। पेटदर्द होने पर इस लेप को नाभि और पेट के आस-पास लगाने से आराम मिलता है।
  • पाचन संबंधी समस्या पाचन संबंधी समस्याओं जैसे दस्त लगना, पेट में गैस बनना आदि होने पर एक ग्लास पानी में 10-15 तुलसी की पत्तियां डालकर उबालें और काढा बना लें। इसमें चुटकी भर सेंधा नमक डालकर पीएं। 
  • बुखार आने पर दो कप पानी में एक चम्मच तुलसी की पत्तियों का पाउडर और एक चम्मच इलायची पाउडर मिलाकर उबालें और काढा बना लें। दिन में दो से तीन बार यह काढा पीएं। स्वाद के लिए चाहें तो इसमें दूध और चीनी भी मिला सकते हैं।
  • खांसी-जुकाम करीब सभी कफ सीरप को बनाने में तुलसी का इस्तेमाल किया जाता है। तुलसी की पत्तियां कफ साफ करने में मदद करती हैं। तुलसी की कोमल पत्तियों को थोडी- थोडी देर पर अदरक के साथ चबाने से खांसी-जुकाम से राहत मिलती है। चाय की पत्तियों को उबालकर पीने से गले की खराश दूर हो जाती है। इस पानी को आप गरारा करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सर्दी से बचाव बारिश या ठंड के मौसम में सर्दी से बचाव के लिए तुलसी की लगभग 10-12 पत्तियों को एक कप दूध में उबालकर पीएं। सर्दी की दवा के साथ-साथ यह एक न्यूट्रिटिव ड्रिंक के रूप में भी काम करता है। सर्दी जुकाम होने पर तुलसी की पत्तियों को चाय में उबालकर पीने से राहत मिलती है। तुलसी का अर्क तेज बुखार को कम करने में भी कारगर साबित होता है।
  • श्वास की समस्या श्वास संबंधी समस्याओं का उपचार करने में तुलसी खासी उपयोगी साबित होती है। शहद, अदरक और तुलसी को मिलाकर बनाया गया काढ़ा पीने से ब्रोंकाइटिस, दमा, कफ और सर्दी में राहत मिलती है। नमक, लौंग और तुलसी के पत्तों से बनाया गया काढ़ा इंफ्लुएंजा (एक तरह का बुखार) में फौरन राहत देता है।
  • गुर्दे की पथरी तुलसी गुर्दे को मजबूत बनाती है। यदि किसी के गुर्दे में पथरी हो गई हो तो उसे शहद में मिलाकर तुलसी के अर्क का नियमित सेवन करना चाहिए। छह महीने में फर्क दिखेगा।
  • हृदय रोग तुलसी खून में कोलेस्ट्राल के स्तर को घटाती है। ऐसे में हृदय रोगियों के लिए यह खासी कारगर साबित होती है।
  • तनाव तुलसी की पत्तियों में तनाव रोधीगुण भी पाए जाते हैं। तनाव को खुद से दूर रखने के लिए कोई भी व्यक्ति तुलसी के 12 पत्तों का रोज दो बार सेवन कर सकता है।
  • मुंह का संक्रमण अल्सर और मुंह के अन्य संक्रमण में तुलसी की पत्तियां फायदेमंद साबित होती हैं। रोजाना तुलसी की कुछ पत्तियों को चबाने से मुंह का संक्रमण दूर हो जाता है।
  • त्वचा रोग दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं में तुलसी के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में रोग दूर हो जाता है। नैचुरोपैथों द्वारा ल्यूकोडर्मा का इलाज करने में तुलसी के पत्तों को सफलता पूर्वक इस्तेमाल किया गया है। तुलसी की ताजा पत्तियों को संक्रमित त्वचा पर रगडे। इससे इंफेक्शन ज्यादा नहीं फैल पाता।
  • सांसों की दुर्गध तुलसी की सूखी पत्तियों को सरसों के तेल में मिलाकर दांत साफ करने से सांसों की दुर्गध चली जाती है। पायरिया जैसी समस्या में भी यह खासा कारगर साबित होती है।
  • सिर का दर्द सिर के दर्द में तुलसी एक बढि़या दवा के तौर पर काम करती है। तुलसी का काढ़ा पीने से सिर के दर्द में आराम मिलता है।
  • आंखों की समस्या आंखों की जलन में तुलसी का अर्क बहुत कारगर साबित होता है। रात में रोजाना श्यामा तुलसी के अर्क को दो बूंद आंखों में डालना चाहिए।
  • कान में दर्द तुलसी के पत्तों को सरसों के तेल में भून लें और लहसुन का रस मिलाकर कान में डाल लें। दर्द में आराम मिलेगा।
  • लाभकारी तुलसी का तेल इसमें तेल में विटामिन सी, कैल्शियम और फास्फोरस भरा होता है।
  • चक्कर आना बंद करे शहद में तुलसी की पत्तियों के रस को मिलाकर चाटने से चक्कर आना बंद हो जाता है।
  • बवासीर बंद होता है तुलसी के बीज का चूर्ण दही के साथ लेने से खूनी बवासीर में खून आना बंद हो जाता है।
  • (तुलसी के औषधीय फायदे और नुकसान - Benefits of Tulsi in Hindi)
benefits of tulsi for skin, benefits of eating tulsi leaves in empty stomach, how to eat tulsi leaves, tulsi wikipedia, tulsi leaves side effects, tulsi tea benefits, tulsi leaf cancer, tulsi plant, What are the health benefits of Tulsi?, Is Tulsi good for weight loss?, What is the medicinal use of Tulsi?, What does Tulsi tea do for you?, What are the benefits of Tulsi?, Is there caffeine in Tulsi Tea?, What is the English name of Tulsi?, Is Tulsi good for skin?, Is Tulsi and Basil the same thing?, How can I use Tulsi?, Do Tulsi leaves contain mercury?, Is Tulsi tea a stimulant?, नीम के औषधीय गुण, तुलसी पत्ते चबाने के नुकसान, तुलसी के बीज का महत्त्व, तुलसी अर्क के फायदे, तुलसी के नुकसान, तुलसी के प्रकार, तुलसी रस पतंजलि, तुलसी की जानकारी
Share This Recipe with Frinds:-
we are fixing the star review rating code..

tulsi leaves side effects, benefits of tulsi for skin, how to eat tulsi leaves, benefits of eating tulsi leaves in empty stomach, tulsi , tulsi leaf cancer, tulsi leaves for weight loss

tulsi leaves side effects, benefits of tulsi for skin, how to eat tulsi leaves, benefits of eating tulsi leaves in empty stomach, tulsi , tulsi leaf cancer, tulsi leaves for weight loss

tulsi leaves side effects, benefits of tulsi for skin, how to eat tulsi leaves, benefits of eating tulsi leaves in empty stomach, tulsi , tulsi leaf cancer, tulsi leaves for weight loss