Sunday, 31 July 2016

आपके लीवर को रखें स्वस्थ - Liver ko Rakhne Swasth in Hindi

वर्तमान समय में जिगर / यकृत / लीवर की समस्या बहुत ही विकराल होती जा रही है । मानव शरीर के पाचन तंत्र में लीवर का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। लीवर हमारे बहुत से अंगों के कार्यों जिसमें भोजन चयापचय, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलना, ऊर्जा का भंडारण, प्रतिरक्षा प्रणाली, और रसायनों का उत्पादन आदि में प्रमुख भूमिका निभाता हैं। लीवर के ख़राब होने में आँखों व चेहरा पीला पड़ने लगता है, जबान सफ़ेद होने लगती है , कमजोरी बनी रहती है, शरीर की नीली नसे दिखाई पड़ती है, मुँह का स्वाद बिगड़ जाता है, कब्ज और गैस की शिकायत रहती है दाहिने कंधे के पीछे दर्द होता है, शौच में आंव / कीचड़ जैसा आने लगता है।
(आपके लीवर को रखें स्वस्थ - Liver ko Rakhne Swasth in Hindi)
लीवर को रखें स्वस्थ :-
  • लीवर के इलाज में हल्दी बहुत ही उपयोगी साबित होती है। हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते है और या एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करती है। प्रात: अथवा रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से लीवर ठीक रहता है । 
  • नित्य सेब के सिरके का सेवन करने से लीवर शीघ्र ठीक हो जाता है । सेब का सिरका, लीवर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। खाना खाने से पहले सेब के सिरके को पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार लें। 
  • लीवर के संकोचन / लीवर सिरोसिस में नित्य दिन में दो बार 100 -100 ग्राम प्याज खाते रहने से लाभ होता है।
  • जिगर के रोगो में छाछ में हींग, जीरा, काली मिर्च और नमक का तड़का देकर दोपहर के भोजन के बाद सेवन करने से अत्यंत लाभ मिलता है।
  • पानी के साथ सूखे आंवलों का चूर्ण अथवा आंवले का रस 25 ग्राम दिन में तीन बार सेवन करने से लगभग बीस दिन में ही जिगर / यकृत के सारे दोष दूर हो जाते है। (Click Here- जाने आंवले के ओर भी फायदे।)
  • 100 ग्राम पानी में आधा निम्बू निचोड़कर उसमें सेंधा अथवा काला नमक डालकर इसे दिन में तीन बार पीने से जिगर की सभी खराबी ठीक होती हैं।
  • गर्मियों में 250 ग्राम प्रतिदिन खाली पेट बढ़िया और पके जामुन खाने से जिगर की खराबी दूर हो जाती है।
  • आंवला विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है इसका सेवन लीवर की कार्यशीलता को बनाये रखता है। लीवर को सही रखने के लिए नित्य सुबह शाम आँवले का रस , उसका पाउडर अथवा कच्चे आंवले का सेवन करना चाहिए। * पपीता लीवर सिरोसिस में रामबाण का काम करता है । लीवर सिरोसिस में नित्य दो चम्मच पपीता के रस में आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर कम से कम एक माह तक इसका दिन में 3 बार सेवन करें । 
  • लीवर की बीमारियों में मुलेठी का इस्तेमाल बहुत ही लाभप्रद माना जाता है। मुलेठी की जड़ का पाउडर बनाकर इसे उबलते पानी में डालें । फिर ठंड़ा होने पर छान कर इसे दिन में दो बार पिएं, शीघ्र ही आराम मिलेगा । 
  • लीवर की परेशानियों में अलसी के बीज का सेवन करना चाहिए । अलसी के उपयोग से लीवर का संक्रमण उसका तनाव कम होता है। अलसी को दरदरा पीस कर सलाद में या आटे में मिलकर इस्तेमाल करें अथवा उसे ब्रैड पर लगाकर खाएं ।अलसी से लीवर के समस्त रोग दूर होते है । 
  • पालक और गाजर के रस को मिलकर प्रतिदिन सुबह शाम उसका सेवन करने से लीवर सिरोसिस में काफी लाभ मिलता है। पालक और गाजर का रस लीवर को प्राकृतिक तरीके से ठीक करता है।
  • (आपके लीवर को रखें स्वस्थ - Liver ko Rakhne Swasth in Hindi)

Related Recipe