मधुमेह के घरेलू उपचार | Diabetes Home Treatment Tips in Hindi

बदलता परिवेश और शहर का रहन-सहन शहर में मधुमेह के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा कर रहा है। खान-पान पर नियंत्रण न होना भी इसके लिए जिम्मेदार है। डायबिटीज के मरीज को सिरदर्द, थकान जैसी समस्याएं हमेशा बनी रहती हैं। मधुमेह में खून में शुगर की मात्रा बढ जाती है। ऐलोपैथिक में इसका कोई स्थायी इलाज नहीं मिल पाया है परन्तु आयुर्वेद के उपायों, जीवनशैली में बदलाव, शिक्षा तथा खान-पान की आदतों में सुधार द्वारा रोग को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है।
मधुमेह के घरेलू उपचार | Diabetes Home Treatment Tips in Hindi

- मधुमेह के कारण और प्रकार -

हम जो भी खाते है उसे हमारा पाचन तंत्र ग्लूकोज बना कर रक्त में भेज देता है । इसे हमारे शरीर की कोशिकाओं में पहुँचाने के लिए इंन्सुलीन नामक हारमोन की जरुरत होती है। जब हमारा शरीर इंसुलिन का उत्पादन करने में सक्षम नहीं होता है , तब ग्लुकोज रक्त में बढता जाता है मगर कोशिकाओं के अन्दर नहीं घुस पाताहै । यही मधुमेह कहलाता है। यदि हम थोड़ी सी सावधानी बरते,आपने जीवनशैली , खान-पान की आदतों में सुधार करें तो इसपर अवश्य ही विजय प्राप्त कर सकते है। यहाँ मधुमेह को नियंत्रण करने के हम कुछ आसन से घरेलू उपाय बता रहे है....
  • तुलसी के पत्तों में ऐन्टीआक्सिडन्ट और ज़रूरी तेल होते हैं जो इनसुलिन के लिये सहायक होते है । इसलिए शुगर लेवल को कम करने के लिए दो से तीन तुलसी के पत्ते को प्रतिदिन खाली पेट लें, या एक टेबलस्पून तुलसी के पत्ते का जूस लें।
  • 10 मिग्रा आंवले के जूस को 2 ग्राम हल्दी के पावडर में मिला लीजिए। इस घोल को दिन में दो बार लीजिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है। 
  • काले जामुन डायबिटीज के मरीजों के लिए अचूक औषधि मानी जाती है। मधुमेह के रोगियों को काले नमक के साथ जामुन खाना चाहिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है।
  • काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में 5-6 भिंडियाँ काटकर रात को गला दीजिए, सुबह इस पानी को छानकर पी लीजिए।
  • मधुमेह मरीजो को नियमित रूप से दो चम्मच नीम और चार चम्मच केले के पत्ते के रस को मिलाकर पीना चाहिए। 
  • ग्रीन टी भी मधुमेह मे बहुत फायदेमंद मानी जाती है । ग्रीन टी में पॉलीफिनोल्स होते हैं जो एक मज़बूत एंटी-ऑक्सीडेंट और हाइपो-ग्लाइसेमिक तत्व हैं, शरीर इन्सुलिन का सही तरह से इस्तेमाल कर पाता है।
  • सहजन के पत्तों में दूध की तुलना में चार गुना कैलशियम और दुगना प्रोटीन पाया जाता है। मधुमेह में इन पत्तों के सेवन से भोजन के पाचन और रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित सेवन से भी लाभ प्राप्त होता है । 
  • एक टमाटर, एक खीरा और एक करेला को मिलाकर जूस निकाल लीजिए। इस जूस को हर रोज सुबह-सुबह खाली पेट लीजिए। इससे डायबिटीज में बहुत फायदा होता है।
  • गेहूं के पौधों में रोगनाशक गुण होते हैं। गेहूं के छोटे-छोटे पौधों से रस निकालकर प्रतिदिन सेवन करने से भी मुधमेह नियंत्रण में रहता है। 
  • लगभग एक महीने के लिए अपने रोज़ के आहार में एक ग्राम दालचीनी का इस्तेमाल करें, इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने के साथ वजन को भी नियंत्रण करने में मदद मिलेगी।
  • करेले को मधुमेह की औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका कड़वा रस शुगर की मात्रा कम करता है।अत: इसका रस रोज पीना चाहिए। उबले करेले के पानी से मधुमेह को शीघ्र स्थाई रूप से समाप्त किया जा सकता है। 
  • मधुमेह के उपचार के लिए मैथीदाने का बहुत महत्व है, इससे पुराना मधुमेह भी ठीक हो जाता है। मैथीदानों का चूर्ण नित्य प्रातः खाली पेट दो टी-स्पून पानी के साथ लेना चाहिए । 
  • मधुमेह के मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में खीरा नींबू निचोड़कर खाकर भूख मिटाना चाहिए।
  • मधुमेह उपचार मे शलजम का भी बहुत महत्व है । शलजम के प्रयोग से भी रक्त में स्थित शर्करा की मात्रा कम होने लगती है। इसके अतिरिक्त मधुमेह के रोगी को तरोई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का प्रयोग भी ज्यादा करना चाहिए। 
  • 6 बेल पत्र , 6 नीम के पत्ते, 6 तुलसी के पत्ते, 6 बैगनबेलिया के हरे पत्ते, 3 साबुत काली मिर्च ताज़ी पत्तियाँ पीसकर खाली पेट, पानी के साथ लें और सेवन के बाद कम से कम आधा घंटा और कुछ न खाएं , इसके नियमित सेवन से भी शुगर सामान्य हो जाती है । 
  • वैज्ञानिकों की नई शोध में अदरक मधुमेह की बीमारी में बेहद कारगर साबित हुई है। आस्ट्रेलिया में किये गए एक शोध के अनुसार अदरक का रस खून में शर्करा के स्तर को पूरी तरह से नियंत्रित करता है। पुराने से पुराने मधुमेह में भी जिसमें शरीर के अंग भी प्रभावित हो चुके हो नित्य खाली पेट अदरक का रस बेहद फायदेमंद है। 
  • मधुमेह में सोया आटे की रोटी खानी चाहिए । सोयाबीन में स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट बहुत कम मात्रा में होता है और यही चीज़े मधुमेह में हानिकारक होती है अत: सोयाबीन को पीस कर आटे में मिलाकर खाने से मधुमेह नियंत्रण में रहता है ।
  • मधुमेह के शिकार व्यक्ति को अपने आहार में एलो वेरा जूस को अवश्य ही शामिल करना चाहिए। एलो वेरा में मौजूद विभिन्न प्रकार के विटामिन्स, मिनरल्स, खनिज शरीर के सेल स्तर पर काम करते है जिससे शरीर शर्करा की मात्रा नियंत्रित होती है और व्यक्ति चुस्त और दुरुस्त भी रहता है। 
  • मधुमेह से ग्रस्त व्यक्ति के लिए अलसी का सेवन उपयुक्त है । अलसी को मिक्सी में पीसकर आटा में मिलकर इसकी रोटी खाएं । इससे शरीर में लम्बे समय तक ताकत रहती है । 
  • मधुमेह में नित्य अमरुद का सेवन करें । इसे महीन महीन काट काट कर उसपर सेंधा / काला नमक और काली मिर्च छिड़क कर खाना चाहिए, इससे मधुमेह में बहुत ज्यादा आराम मिलता है।
Share This Recipe with Freinds:-

cardamom Elaichi White Peepper Safed Mirchi Black Pepper Mirchi Peper corns Kali Mirch Capsicum Shimla Mirch Celery Radhuni Seed Ajmud Charoli Chironji Indian Bay Leaf Bay Leaf Tej Patta Cinnamon Buds Nag Keshar Cinnamon Dalchini Citric Acid Nimbu Phool Cloves Laung Coriander Powder Dhaneya Powder / Pisa Dhania Coriander Seed Dhania / Hara Dhaniya Garam Masala Ginger Adrak Green cardamom Chhoti Elaichi Indian Gooseberry Amla Black Salt Kala Namak / Sanchal Long Pepper Pippali hamari Website me recipe menu me se apni swad anusar kisi bhi post ko paden aapko har article hindi me likhi hamari creativity ko spasht krega hamari suchi ke pramukh tag is prakar hain ghar par aasani se recipe Vanilla Dahi Sooji Cooker Cake kaise banaye Biscuit Rice Recipes Moong Urad Dal khichidi banane ka tareeka aalu matar tahri sada matar pulao veg briyani Snacks Recipes me aap payenge mathri sam namak pare shakker pare pakode burger Kids Snacks Street Food jaise samosa kaise banaye tikki gol gappa chaat bhature bedmi poori etc. iske alawa aneek prikar papad moond dal papad recipe in hindi How to make urad dal chawal ke papar aalu ke papar aap anek prakar ki bari urad bari chane ke badi moong dal bariyan punjabi baree aaneko aachar jaise: aam ka achaar mooli ka aachar mitha khatta acher nimbu suka achar banane tareeka tel wala mirch achar aaneko chatniya dhaniye mango pudine ki chatni More thohar deepawali holi makar sankananti lodi pongal ganesh chouth janamasthmi karwa chouth navratri rakshabhandhan hariyali teej iske alawa masala banane ka tareeke bhi jane ghar par shudh masale garam chaat maggi doodh chai masala ko aasani se ghar par bana sakte hain. chote bacho k swasth ke lie upyogi aahar sooji ki kheer dal ka paani tamatar soup kashi fal pani etc. sehat ke lie jaroori soup tamatar soup gajar ki kanji badam milk aam panna punjabi lassi ananas ka jauice seb ki chai tulsi chai reasnal bangali marathi rajesthani pahari bihari gujrati asmi utter bhartiye madhy bharat ki khane ke vyanjan pakvaan taiyaar krne ke methad ko dekhen har recipe me calori fat nutri making time and prepare time jaane hamare saare dish vegetarion hote hain dinner lunch breakfast tea snack lunchbox travel vrat upvaas street food traditional latest starter desert fast food etc

how to control diabetes naturally at home diabetes with diet and exercise, sugar control tips how do i control my blood sugar? how to control diabetes without medicine how to control diabetes in hindi

how to control diabetes naturally at home diabetes with diet and exercise, sugar control tips how do i control my blood sugar? how to control diabetes without medicine how to control diabetes in hindi

how to control diabetes naturally at home diabetes with diet and exercise, sugar control tips how do i control my blood sugar? how to control diabetes without medicine how to control diabetes in hindi