व्रत के लिए मेवा की पंजीरी बनाने की रेसिपी - Dry Fruits Panjiri Recipe

ड्र्राई फ्रूट पाग (मेवा की पंजीरी) व्रत रेसिपी बनाने की विधि (तरीका) चित्रों के साथ हिंदी में बता रहे है। भारतवर्ष में सभी प्रमुख त्योहारों में जन्माष्टमी का त्योहार अपना एक विशेष स्थान रखता है भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के उपलक्ष में हम लोग यह व्रत रखते हैं। बचपन से हम देखते आ रहे हैं कि इस दिन भगवान का भोग इसी मेवापाग से लगता है। वैसे तो सर्दियों के दिनों में कभी भी हम इस पंजीरी को खा सकते हैं लेकिन जन्माष्टमी के दिन इसका अपना विशेष महत्व है, आइए आपको इस पंजीरी को बनाने की आसान विधि बताते हैं.
(व्रत के लिए मेवा की पंजीरी बनाने की रेसिपी - Dry Fruits Panjiri Recipe)

  • 3-4 लोगों के लिए
  • 15 मिनट तैयारी का समय
  • 25 मिनट बनाने का समय
  • 440 कैलोरीज (100 ग्राम)
  • 20.0g फैट (100 ग्राम)
  • शाकाहारी व्यंजन
  • भारतीय पकवान
  • स्वीट रेसिपी
व्यंजनों के लिए अनुमानित सामग्री माप चार्ट
चम्मचकपग्राम
41/425g
81/250g
123/475g
161100g
पंजीरी बनाने की सामग्री:-
  • 1/2 कप खरबूजे की मींग
  • 1/2 कप मखाने
  • 1/2 कप गोले (कसा हुआ)
  • 1/2 कप सूखा हुआ गोंद
  • 1/2 कप खसखस
  • 1/2 कप काजू
  • 1/2 कप बादाम
  • 1 कप शुद्ध घी
  • 4 कप चीनी
  • डेढ़ कप पानी
पंजीरी बनाने की विधि:-
  • कढ़ाई में गोले को भूनें और इसे अलग रखें।
  • इसी तरह इसी कढ़ाई में खसखस को भूनें उसे अलग रखें।
  • अब खरबूजे की मींगें लें और उसे भी कढ़ाई में भून कर अलग रख ले।
  • अब कढ़ाई में शुद्ध घी डालें और इसमें बादाम और काजू तल लें।
  • गोंद को दरदरा करें और उसे उसी कढ़ाई में तले (गोंद कचरी की तरह फूल जाएगा)
  • अब इसी कढ़ाई में मखाने डाल कर भूने।
  • अब सारी सामिग्री को मिला कर ठंडा होने रख दे। ठंडा होने के बाद सभी सामिग्री को मिक्सी में दरदरा पीस लें।
  • चासनी बनाने की तैयारी :-
  • एक कड़ाही में चाशनी तैयार करें। इसे चेक करने के लिए एक छोटे चम्मच में चाशनी को निकाल कर उसे ठंडा कर लें और दो उंगलियों के बीच रख कर चिपका कर देखें।
  • अगर उंगलियों के बीच दो तार जैसा बनता है, तो समझ लें कि आपकी चाशनी तैयार है।
  • चाशनी गाढ़ी होनी चाहिए जिसे अगर प्लेट में टपकाया जाये तो वह अंगुली से फैलाने पर जम जाए।
  • एक थाली में घी लगाकर उसको चिकना कर लें।
  • अब तैयारी चाशनी में मिक्स मेवा डालकर अच्छी तरह मिला लें।
  • गर्मागर्म मिश्रण घी लगी थाली में डालकर फैला दें। ऊपर से चमचे की सहायता से दबा दें।
  • ठंडा होने पर मन चाहे आकर में काट कर एयर टाइट डिब्बे में रख लें।
  • यह पंजीरी 15 दिनों तक खराब नही होती है। (मेवा की पंजीरी ब्रत में खाई जाती है)।
  • (व्रत के लिए मेवा की पंजीरी बनाने की रेसिपी - Dry Fruits Panjiri Recipe)
dry fruit paag in hindi, meva ka paag banane ki vidhi, meva ki panjiri recipe in hindi, migi pag recipe, janmashtami special paag, mewa fruit, पंजीरी बनाने की विधि इन हिंदी, धनिया की पंजीरी, पंजाबी पंजीरी रेसिपी इन हिंदी
Share This Recipe with Frinds:-

dry fruit paag in hindi, meva ka paag banane ki vidhi, meva ki panjiri recipe in hindi, migi pag recipe, janmashtami special paag, mewa fruit, पंजीरी बनाने की विधि इन हिंदी, धनिया की पंजीरी, पंजाबी पंजीरी रेसिपी इन हिंदी

dry fruit paag in hindi, meva ka paag banane ki vidhi, meva ki panjiri recipe in hindi, migi pag recipe, janmashtami special paag, mewa fruit, पंजीरी बनाने की विधि इन हिंदी, धनिया की पंजीरी, पंजाबी पंजीरी रेसिपी इन हिंदी

dry fruit paag in hindi, meva ka paag banane ki vidhi, meva ki panjiri recipe in hindi, migi pag recipe, janmashtami special paag, mewa fruit, पंजीरी बनाने की विधि इन हिंदी, धनिया की पंजीरी, पंजाबी पंजीरी रेसिपी इन हिंदी