Skip to main content

मूली का अचार बनाने की विधि - Mooli Achar Recipe in Hindi

आज हम आपको घर पर ही आसान विधी द्वारा मूली का कम तेल वाला अचार बनाने की सचित्र रेसिपी हिंदी में बता रहे हैं। यह अचार समान्यता जाड़ों में अत्याधिक प्रयोग किया जाता है, और यह अपने स्वाद एवम चिकित्सीय गुणों के लिए प्रसिद्ध है.
Mooli Achar Recipe in Hindi
(मूली का अचार बनाने की विधि - Mooli Achar Recipe in Hindi)
मूली का अचार बनाने की सामग्री:-
  • फ्रेश मूली - 4
  • सरसों का तेल - 1/2 कप
  • हल्दी (पाउडर) - 1/2 चम्मच
  • मैथी दाना - 1/2 चम्मच
  • राई (दरदरी) - 2 चम्मच
  • हींग - 1 चुटकी
  • लाल मिर्च (पाउडर) - 1/2 चम्मच
  • नीवू का रस या सफेद सिरका - 3 चम्मच
  • साबुत लाल मिर्च (ताज़ा) - 2
  • नमक स्वादानुसार
मूली का अचार बनाने की विधि:-
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 1 01:- सबसे पहले फ्रेश मूली को धो कर छील लें। और एक इंच के गोल टुकड़ों में काट लें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 2 02:- अब गोल टुकड़ों को खड़ा करके लंबाई में पतले स्लाइस काट कर आधे घंटे के लिए हवा में सूखने दें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 3 03:- अब आप एक बड़ा बर्तन लें, उसमे मूली के टुकड़ों को रखें और साथ में ही मूली के टुकड़ों में हल्दी पाउडर एवम नमक मिला दें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 4 04:- इसके बाद आप दरदरी राई और हींग एवम मिर्च पाउडर को भी इसमें डाल कर अच्छे से मिला लें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 5 05:- अब एक पेन लें और इसमें दो चम्मच सरसों का तेल डालें ,गैस चालू करके मैथी के दाने और लाल मिर्च के टुकड़े डाल कर तड़का तैयार करें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 6 06:- आप अब तड़के को ठंडा होने दें, ठंडा होने के बाद तड़के को मसाला लगी हुई मूली के टुकड़ों के ऊपर डाल कर अच्छे से मिक्स कर लें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 7 07:- अब बचे हुए सरसों के तेल को भी डाल कर चम्मच की सहायता से मिला लें।
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 8 08:- अब बारी आती है नीबू की, नीबू को निचोड़ कर उसके रस को छान लें और मूली के आचार में मिक्स कर लें। (आप चाहें तब नीबू के रस की जगह वाइट बेनेगर का प्रयोग भी कर सकती हैं।)
Mooli Achar Recipe in Hindi Step 9 09:- लीजये जाड़े के मौसम में खाया जाने वाला मूली का आचार तैयार हो गया है। इसे साफ़ और सूखे एयर टाइट डिब्बे में भर कर एक-दो दिन धुप में रखें।
नोट:- इस आचार को एक माह तक स्टोर किया जा सकता है। आप जब भी अचार निकालें साफ़ और सूखे चम्मच से ही निकालें।
(मूली का अचार बनाने की विधि - Mooli Achar Recipe in Hindi)