Skip to main content

Posts

Showing posts with the label कृष्ण जन्माष्टमी के पकवान

माखन-मिश्री भोग प्रसाद रेसिपी - Makhan-Mishri Bhog Prashad Recipe

आपको घर पर ही आसानी से माखन-मिश्री (भोग प्रसाद) रेसिपी बनाने की विधि (तरीका) हिंदी में बता रहे है। हम भारतवर्षीय की विश्वास रखते हैं कि कन्हैया जी को मक्खन बहुत पसंद है, और वह हमेशा माखन मिश्री को बहुत आनंद के साथ खाते हैं तो क्यों ना आज हम उन का भोग माखन मिश्री से ही लगाएं। बाजार में मक्खन बहुत आसानी से उपलब्ध है। लेकिन उसकी शुद्धता पर भरोसा कम ही रहता है।
(माखन-मिश्री भोग प्रसाद रेसिपी - Makhan-Mishri Bhog Prashad Recipe)

कृष्ण जन्माष्टमी के भोग पकवान - Janmashtami Hindi Recipe for Home

जन्माष्टमी की स्पेशल रेसिपी को हिंदी में बनाने की विधि (तरीका) आपको बता रहे है। (कृष्ण जन्माष्टमी के भोग पकवान - Janmashtami Hindi Recipe for Home)

जन्माष्टमी का त्यौहार - विशेष - Krishna Janmashtami Festival

जन्माष्टमी अर्थात कृष्ण जन्मोत्सव । जन्माष्टमी जिसके आगमन से पहले ही उसकी तैयारियां जोर शोर से आरंभ हो जाती है पूरे भारत वर्ष में इस त्यौहार का उत्साह देखने योग्य होता है। जन्माष्टमी पूर्ण आस्था एवं श्रद्ध के साथ मनाया जाता है।
पौराणिक धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान विष्णु ने पृथ्वी को पापियों से मुक्त करने हेतु कृष्ण रुप में अवतार लिया, भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि को रोहिणी नक्षत्र में देवकी और वासुदेव के पुत्ररूप में हुआ था। श्रीमद्भागवत को प्रमाण मानकर स्मार्त संप्रदाय के मानने वाले चंद्रोदय व्यापनी अष्टमी अर्थात रोहिणी नक्षत्र में जन्माष्टमी मनाते हैं तथा वैष्णव मानने वाले उदयकाल व्यापनी अष्टमी एवं उदयकाल रोहिणी नक्षत्र को जन्माष्टमी का त्यौहार मनाते हैं। (जन्माष्टमी का त्यौहार - विशेष - Krishna Janmashtami Festival)

मेवा की पंजीरी बनाने की विधि - Dry Fruits Panjiri Recipe in Hindi

आपको घर पर ही आसानी से मेवा की पंजीरी रेसिपी बनाने की विधि (तरीका) हिंदी में बता रहे है। भारतवर्ष में सभी प्रमुख त्योहारों में जन्माष्टमी का त्योहार अपना एक विशेष स्थान रखता है भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के उपलक्ष में हम लोग यह व्रत रखते हैं। बचपन से हम देखते आ रहे हैं कि इस दिन भगवान का भोग इसी मेवापाग से लगता है। वैसे तो सर्दियों के दिनों में कभी भी हम इस पंजीरी को खा सकते हैं लेकिन जन्माष्टमी के दिन इसका अपना विशेष महत्व हैआइए आपको इस पंजीरी को बनाने की आसान विधि बताते हैं
(मेवा की पंजीरी बनाने की विधि - Dry Fruits Panjiri Recipe in Hindi)